Bihar Fasal Bima Yojana - 1

Bihar Fasal Bima Yojana 2024 | बिहार फसल बीमा योजना क्या है ?

Bihar Fasal Bima Yojana 2024:दोस्तों बिहार फसल बीमा योजना बिहार सरकार द्वारा चलाई जा रही है किसानों के लिए एक ऐसी योजना है जिसके तहत आप अपने फसल का बीमा (फ्री में) करते है और अगर आपके फसल को कोई भी क्षति होती है तो उस फसल का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है।

इस योजना का लाभ बिहार राज्य के हर किसान को दीया जाता है, अगर आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आप सभी को इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी इस आर्टिकल में मिलेगी। पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़िएगा।

Bihar Fasal Bima Yojana - 1
Bihar Fasal Bima Yojana

Bihar Fasal Bima Yojana 2024: Overview

लेख का प्रकार सरकारी योजना (Sarkari Yojana)
विभाग का नाम सहकारिता विभाग, बिहार सरकार
योजना का नाम बिहार फसल सहायता योजना
योजना का लाभ जमीन और फसल के अनुसार मुआवजा
कौन आवेदन कर सकता है? सभी किसान (रैयत या गैर रैयत)
आवेदन करने का माध्यम आनलाईन माध्यम
Official Website https://pacsonline.bih.nic.in/
सम्पूर्ण जानकारी इस लेख को पुरा पढ़ें।

बिहार फसल बीमा योजना क्या है ?

बिहार में खेती करने वाले किसानों के फसलों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाली क्षति से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई। इस योजना के अंतर्गत किसानों द्वारा बोई गई फसल  बाढ़, सूखा, ओलावृष्टि इत्यादि के कारण नष्ट हो जाती है तो किसान अपनी फसल का निः शुल्क बीमा करवा कर नष्ट हो गई फसल की सहायता राशि सरकार के द्वारा प्रदान की जाती हैं। इस योजना के तहत खरीफ और रबी दोनों फसलों पर सरकार की तरफ से सहायता राशि दी जाती है।

बिहार फसल बीमा योजना की शुरुआत कब हुई ?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को हुई थी। पहले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत ही किसानों को बीमा योजना की सहायता मिलती थी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत के बाद बिहार सरकार ने  देखा कि राज्य के किसानों के फसल खराब होने की स्थिति में किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के द्वारा दी जाने वाली राशि का लाभ नहीं मिल रहा है।

जिसके कारण बिहार सरकार ने खुद फैसला लिया कि हमें अपने राज्य के किसानों की स्थिति में सुधार लाने के लिए  स्वयं की बीमा योजना की शुरुआत करनी चाहिए, जिसके लिए बिहार सरकार ने 6 जून 2018 को ” राज्य फसल सहायता योजना “ नाम से एक बीमा योजना की शुरुआत की। बिहार राज्य अपने राज्य के किसानों के लिए अपनी स्वयं की बीमा योजना की शुरुआत करने वाला देश का पहला राज्य है। इस योजना के लागू होने के बाद राज्य में पहले से चल रहे जो भी फसल बीमा योजनाएं थी उन सब की जगह अब इस नई योजना की शुरुआत की गई।

बिहार फसल बीमा योजना का उद्देश्य क्या है ?

बिहार फसल बीमा योजना के प्रमुख उद्देश्य हैं जो इस प्रकार हैं –

  • Bihar Fasal Bima Yojana का प्रमुख उद्देश्य राज्य के किसानों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले फसल के नुकसान से बचा ने के लिए और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बिहार के किसानों को फसल खराब होने की स्थिति में सहायता राशि प्रदान की जाती थी। परंतु राज्य सरकार का कहना था कि इस योजना से राज्य के अधिकांश किसान वंचित रह जाते थे और उन्हें योजना का लाभ नहीं मिल पाता था। इन्हीं कारणों की वजह से बिहार सरकार ने अपने राज्य के किसानों के लिए खुद की बीमा योजना की शुरुआत की।
  • बिहार एक मैदानी राज्य है जहां की मुख्य आपदा बाढ़ एवं सूखा है। बिहार के 38 जिलों में से 28 जिले बाढ़ से प्रभावित रहते हैं। जिससे किसान की फसल को अत्यधिक नुकसान होता है । फसल के साल दर साल नष्ट होने की वजह से किसान खेती करना नहीं चाहते थे, परंतु इस योजना के लागू होने के बाद किसानों की आर्थिक स्थिति में थोड़ी बहुत सुधार हुई।
  • इस योजना से मौसम की वजह से फसल नुकसान का सामना कर रहे राज्य के लाखों किसानों को फायदा मिला तथा उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार देखने को मिला है।
  • बिहार सरकार ने जब से अपनी स्वयं की बीमा योजना की शुरुआत की, उसके बाद राज्य के किसान आत्मनिर्भर और सशक्त बन रहे हैं।

Bihar Fasal Bima Yojana के लाभ क्या – क्या है ?

इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानों को विभिन्न प्रकार के लाभ मिलेगा जो निम्न है-

  • इस योजना के अंतर्गत उन किसानों को लाभ मिलेगा जिनकी फसल प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़, सुखा और ओलावृष्टि आदि की वजह से नष्ट हो गई है।
  • इस योजना के अंतर्गत दो प्रकार के लाभ दिए जाते हैं-
  1. यदि किसान को 20% तक या उससे कम का नुकसान हुआ तो उसे ₹7500 प्रति हेक्टेयर धनराशि का लाभ मिलेगा ।
  2. यदि किसान को 20% से अधिक की हानि हुई तो उसे ₹10000 प्रति हेक्टेयर धनराशि का लाभ मिलेगा ।
  • Bihar Fasal Bima Yojana के अंतर्गत ग्रामीण इलाकों के किसानों के साथ-साथ नगर पंचायत या नगर परिषद् के किसानों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत रैयत (ऐसे सभी किसान जो अपनी भूमि पर स्वयं खेती करते है) और गैर- रैयत (ऐसे सभी किसान जो दूसरों के भूमि पर खेती करते है) किसानों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा ।

Bihar Fasal Bima Yojana के लाभ लेने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए ?

  1. इस योजना के लिए सबसे पहले बिहार राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  2. इस योजना के अंतर्गत किसान एक से अधिक फसल के लिए बीमा कर सकता है।
  3. इस योजना के अंतर्गत प्रति किसान अधिकतम दो हेक्टेयर भूमि तक का ही बीमा करवा सकता है।

Bihar Fasal Bima Yojana के आवेदन के लिए दस्तावेज होनी चाहिए ?

योजना के लाभ के लिए किसानों के पास उनका अपना  कागजात मौजूद रहना आवश्यक है।

जैसे की किसान का अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड, बैंक पासबुक, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पासपोर्ट साइज फोटो, जमीन संबंधी कागजात, फसल के नुकसान का विवरण उसके बाद किसान इस योजना के लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए बिहार सरकार के सहकारिता विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन करना होता  हैं।

आवेदन करते समय किसानों को अपनी फसल और बुवाई के रकबा की जानकारी देनी होती है।  किसान के द्वारा ऑनलाइन आवेदन कर देने के बाद विभाग के द्वारा पूरी जांच प्रक्रिया के बाद सीधे किसान के खाते में सहायता राशि सरकार के द्वारा भेज दिया जाता है।

Important Link

Apply Link Click Here
Official Notice Click Here
Official Website Click Here
Scroll to Top